E-NAM Scheme in Hindi | ई – नाम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पोर्टल (enam.gov.in)

ई – नाम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पोर्टल से संबंधित जानकारी

देश के किसानो को अपनी फसल बेचने में हर वर्ष होने वाली समस्या को सुलझाने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा E-NAM रेजिस्ट्रेशन नाम की योजना का आरम्भ किया गया, यह राष्ट्रीय कृषि बाजार योजना के नाम से भी जाना जाती है | किसानो को हर वर्ष होने वाली समस्या जैसे फसल का उचित रेट न मिलना दलालो द्वारा बेचने पर समय पर पैसे न मिलना आदि शिकायते रहती है | इन्ही सब बातो को ध्यान में रखते हुए इस योजना को लागू किया गया है | E-NAM पोर्टल किसानो को अपनी फसल ऑनलाइन बेचने की सुविधा प्रदान करता है |

राष्ट्रीय कृषि बाजार (E-NAM) एक पैन इंडिया इलेक्ट्रॉनिक व्यापार पोर्टल है, जो कृषि से जुड़ी उपज के लिए एक एकीकृत राष्ट्रीय बाजार का निर्माण करने में मौजूदा APMC मंडी का एक प्रसार है | इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी फसल को कहीं से भी ऑनलाइन बेच सकते है, तथा बेचीं गई फसल का भुगतान डायरेक्ट अपने बैंक खाते (Bank Account) में प्राप्त कर सकते है | इस पोस्ट में आपको ई-नाम पोर्टल से जुड़ी जानकारी E-NAM Scheme in Hindi, ई – नाम योजना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन पोर्टल (enam.gov.in) आदि के बारे में बताया गया है |

ई – नाम योजना/पोर्टल क्या है (What is E-Name Scheme/Portal)

भारत के राष्ट्रीय कृषि व्यापार संघ और किसान कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत ही इस ई-नाम पोर्टल को लागू किया गया है | E-NAM (National Agriculture Market)  एक अखिल भारतीय इलेक्ट्रॉनिक ट्रेडिंग पोर्टल है इसमें कृषि उत्पादों के लिए संघटित राष्ट्रीय बाजार को तैयार कर एपीएमसी (APMC) मंडियों को ऑनलाइन नेटवर्क से जोड़ता है|

इस पोर्टल में देश के वह किसान जो अपनी फसल को ऑनलाइन बेचना चाहते है वह घर बैठे इंटरनेट का इस्तेमाल कर ई-नाम पोर्टल पर जाकर बेच सकते है | साथ ही किसान अब खुद ई-नाम पोर्टल पर जाकर अपना ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते है |

ई – नाम पोर्टल का उद्देश्य (Purpose of e-NAM Portal)

यह योजना मुख्य रूप से किसानो को अपनी फसल बेचने में होने वाली समस्याओं के निपटारे के लिए है | वह किसान जो फसल का उत्पादन तो कर लेते है किन्तु उसे कहा बेचे यह उनके लिए एक समस्या होती है | अभी तक किसान अपनी फसल को अगुआइयो द्वारा खरीदते बेचते थे | किसानो की इस समस्या को दूर करने के लिए सरकार द्वारा राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम पोर्टल) का आरम्भ किया गया |

इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी फसल को बेचने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर विक्रेता के रूप में अपनी फसल को उचित दाम पर बेच सकते है तथा बेचीं गयी फसल की कीमत को सीधा अपने बैंक खाते में प्राप्त कर सकते है |

ई – नाम पोर्टल की मुख्यता

  • इस पोर्टल की मदद से दो राज्यों में व्यापार करना संभव हो गया है |
  • इस वर्ष सरकार द्वारा इस पोर्टल में लगभग 200 मंडियों को जोड़ा गया है तथा अगले साल और 215 मंडियों को भी शामिल करने की योजना बनाई गई |
  • इस पोर्टल के आरम्भ हो जाने से अब किसानो को दलालो पर निर्भर नहीं रहना पड़ता है तथा किसान अपनी फसल को सीधे मंडी भेज सकते है |
  • 14 अप्रैल 2016 में शुरू हुए इस पोर्टल में किसान अपनी फसल को देश के किसी भी मंडी में बिना किसी समस्या के बेच सकते है |

ई-नाम पोर्टल में ऑनलाइन रेजिस्ट्रेशन के लिए आवश्यक दास्तावेज (Documents Required for Online Registration in e-NAM Portal)

  • आधार कार्ड (Adhaar Card)
  • पहचान पत्र (Voter Id)
  • बैंक पासबुक (Bank Passbook)
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

ई-नाम पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया (Online Registration Process on e-NAM Portal)

  • सबसे पहले इसकी आधिकारिक वेबसाइट https://enam.gov.in/web/ को खोले | आपके सामने होम पेज खुल कर आ जायेगा |
  • होम पेज में आपको Registration  का विकल्प दिखाई देगा |
  • इस विकल्प पर क्लिक करे |
  • जैसे ही आप इस ऑप्शन पर क्लिक करेंगे आपके सामने नया पेज खुल कर आ जायेगा |
  • यह आपका पंजीकरण फॉर्म होगा |
  • इस फॉर्म में आप किसान पंजीकरण प्रकार,स्तर का चयन करे |
  • इसके बाद फॉर्म में मांगी गयी सभी जानकारी को ठीक तरह से भरे साथ ही इसमें किसान आवेदक की पासबुक की फोटो कॉपी और आई डी प्रूफ को स्कैन कर अपलोड करना होगा |
  • यह सभी प्रक्रियाए हो जाने के बाद नीचे सबमिट बटन पर क्लिक कर फॉर्म को सबमिट कर दें |
  • इसके बाद सन्दर्भ में जमा किये गए आवेदन पत्र का प्रिंटआउट निकाल ले |
  • किसान मंडियों में अपनी फसल बेचने के लिए लॉगिन कर सकते है |
  • लॉगिन करने के लिए होम पेज पर जाये और लॉगिन ऑप्शन पर क्लिक करे |
  • इसमें अपना यूजर नाम ,पासवर्ड और कैप्चा कोड डालकर लॉगिन बटन पर क्लिक कर लॉगिन कर लें |