बकरी पालन के लिए लोन कैसे ले | बकरी पालन योजना, Subsidy, व्यवसाय कैसे शुरू करें

बकरी पालन (Goat Farming) से सम्बंधित जानकारी

भारत में अधिकांश जनसँख्या ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है, और यहाँ के लोगो का मुख्य व्यवसाय कृषि है | हमारे देश के ज्यादातर किसान खेती के साथ ही पशुपालन भी करते है, जो उनकी आय का अतिरिक्त स्त्रोत होता है | हाल ही में सरकार नें किसानों और बेरोजगार लोगो के लिए बकरी पालन योजना की शुरुआत की है | इस योजना का मुख्य उद्देश्य कृषकों की आय बढ़ानें के साथ ही कम पढ़े-लिखे बेरोजगार लोगो को बकरी पालन के माध्यम से रोजगार उपलब्ध कराना है |

दरअसल बकरी पालन साधारण रख-रखाव और कम लागत में किसी व्यवसाय की अपेक्षा अधिक लाभ होता है, जिसके कारण सरकार बकरी पालन पे विशेष ध्यान दे रही है | यहाँ तक कि बकरी पालन के लिए सरकार द्वारा लोन पर सब्सिडी भी दी जा रही है | यदि आप बकरी पालन करना चाहते है और इस बात की जानकारी नहीं है, कि बकरी पालन के लिए लोन कैसे ले? तो आपको यहाँ बकरी पालन योजना, Subsidy और व्यवसाय शुरू करनें के बारें में पूरी जानकारी प्रदान की जा रही है |

मत्स्य पालन के लिए लोन कैसे लें

बकरी पालन योजना क्या है (Goat Farming Scheme)

भारत में बकरी पालन व्यवसायों में से एक है, इसके साथ इसके मांस को बेहद पसंद किया जाता है, जिसके कारण इसकी मांग सदैव बनी रहती है | सरकार द्वारा बकरी पालन योजना ग्रामीण अंचलों में ऐसे लोगो के लिए शुरू की गयी है, जो पशुपालन के साथ ही बकरी पालन व्यवसाय करना चाहते है | हालंकि हमारे देश में ऐसे बहुत से लोग है, जो इस व्यवसाय को करना चाहते है परन्तु धन के अभाव में वह पीछे हट जाते है | ऐसे लोगो को सहायता के लिए भारत सरकार द्वारा बकरी पालन व्यवसाय के लिए 4 लाख रुपये तक का लोन इस स्कीम के अंतर्गत दिया जायेगा |       

हालाँकि केंद्र सरकार राष्ट्रीय पशुधन मिशन (National Livestock Mission-NLM) के अंतर्गत बकरी और भेड़ पालन को बढ़ावा देने के लिए बकरी पालन योजना का विस्तार पूरे देश में कर रही है | बकरी पालन के मामले में राजस्थान, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश सबसे आगे है, यहाँ के लोगो का कहना है कि बकरियां उनके लिए एटीएम के रूप में उनकी मदद करती है |  इस योजना के अंतर्गत सरकार बकरी पालन का व्यवसाय करनें वाले इच्छुक लोगो को कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करा रही है, इसके साथ ही सब्सिडी भी प्रदान कर रही है।

बकरी पालन योजना का उदेश्य (Objective of Goat Farming Scheme)

सरकार द्वारा बकरी पालन योजना शुरू करनें का मुख्य उदेश्यदेश में रोजगार के अवसर प्रदान करनें के साथ ही पशुधन को बढ़ावा देना है | दरअसल सरकार देश के किसानों और पशुपालकों की आय बढानें के उद्देश्य से इस योजना को शुरू किया है | जो किसान भाई बकरी पालन करना चाहते है परन्तु आर्थिक स्थिति ठीक न होनें के कारण वह इस व्यवसाय को करनें में असमर्थ है, उन सभी किसानों और पशुपालकों को बकरी और भेड़ पालन शुरू करनें के लिए वित्तीय सहायता ऋण के रूप में सरकार की तरफ दे दी जाएगी |   

बकरी पालन हेतु लोन आवश्यक दस्तावेज (Documents Required for Goat Farming Loan)

  • आवेदक का आधार कार्ड (Applicant’s Aadhar Card)
  • पासपोर्ट साइज फोटो (Passport Size Photo)
  • आवास प्रमाण पत्र (Residence Certificate)
  • जाति प्रमाण पत्र (Caste Certificate)
  • भूमि मालिकाना प्रमाण पत्र (Land Ownership Papers)
  • बैंक पासबुक (Bank Passbook)

पशुपालन लोन कैसे मिलता है

बकरी पालन का व्यवसाय कैसे शुरू करें(Hot To StartGoat FarmingBusiness)

बकरी पालन को बढ़ावा देने के लिए केंद्र और राज्य सरकार द्वारा पशुपालकों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है, ताकि बकरी पालन में उन्हें किसी प्रकार की समस्या न हो | प्रशिक्षण के दौरान उन्हें बकरी की नस्ल, बकरियों को गर्भित करनें का सही समय, उन्हें चारा कब और कैसा देना चाहिए आदि विभिन्न प्रकार की जानकारियां प्रदान की जाती है |

दरअसल बकरी पालन एक ऐसा व्यवसाय है, जिसमें आप कम पूँजी लगाकर अच्छा मुनाफा प्राप्त कर सकते है | यदि आपको इस व्यवसाय की पूरी जानकारी होगी, तो आप बिना किसी नुकसान और बहुत ही कम समय में इस व्यवसाय को बढ़ा सकते है |

बकरी पालन से लाभ (Benefits of Goat Farming)

  • यह एक ऐसा व्यवसाय है, जिसमें आपको अधिक स्थान की आवश्यकता नही होती है अर्थात या व्यवसाय आप अपनें घर में भी कर सकते है |  
  • इस स्कीम के अंतर्गत लोन लेने के लिए आयु सीमा या शैक्षणिक योग्यता नही रखी गयी है |
  • कम पूँजी से आप अपना स्वयं का व्यवसाय शुरू कर सकते है और 2 वर्ष में बकरियो की संख्या दोगुनी कर सकते है |
  • बकरी का दूध, मांस आदि का विक्रय करनें के लिए आपको कही दूर जानें की आवश्यकता नही होगी |   
  • सूखा प्रभावित क्षेत्रों में आप किसी अन्य कार्य के साथ बकरी पालन बड़ी आसानी से कर सकते है |
  • धन की अचानक आवश्यकता पड़ने पर आप इसे आसानी से विक्रय कर नगदी प्राप्त कर सकते है |
  • सबसे खास बात यह है, कि इस व्यवसाय के किसी प्रकार के तकनीकी ज्ञान की आवश्यकता नहीं होती है | 
  • अन्य पशुओं की अपेक्षा बकरियों को कम जगह की आवश्यकता पड़ती है |
  • बकरियां अन्य जानवरों की अपेक्षा रोग प्रतिरोधी होती हैं |
  • बकरियां बहुत तेजी से प्रजनन करती हैं और एक बार में 2 से 3 बच्चों को जन्म देती है, जिससे उनकी संख्या बढ़ाने में मदद मिलती है।

पशु बीमा योजना क्या है

बकरी पालन योजना हेतु आवेदन प्रक्रिया (Application Process for Goat Farming Scheme)

  • योजना के अंतर्गत आवेदन करनें के लिए आपको सबसे पहले अपनी नजदीकी पशु चिकित्सक कार्यालय में संपर्क करना होगा।
  • पशु चिकित्सा अधिकारी से सम्पर्क कर उन्हें अपनी कार्य योजना बतानी होगी, इसके पश्चात आपको एक फॉर्म दिया जायेगा। जिसमें बैंक ऋण और सब्सिडी से संबधित जानकारी पढ़े और कुछ समझ न आने पर कर्मचारियों से पूछे |  
  • अब आपको फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारियों को ध्यानपूर्वक भरना होगा, इसके साथ ही मांगे गये दस्तावेजों की कॉपी फॉर्म के साथ संलग्न कर विभाग में जमा करना होगा।
  • फॉर्म जमा करनें के दो से तीन दिनों के अन्दर आपके घर तथा फॉर्म में संलग्न दस्तावेजों की जाँच की जाएगी | 
  • आवेदन फॉर्म और सभी दस्तावेजों की जांच सही पाए जानें पर अधिकारी द्वारा आपसे संपर्क किया जाएगा।
  • इसके पश्चात सम्बंधित बैंक द्वारा बकरी पालन हेतु ऋण के रूप में धनराशि आपके बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर कर दी जाएगी।

पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना 2021