चने का भाव आज का 2022 – Today Chana Rate | मंडी में चना क्या भाव है ? (02 December 2022)


चने का भाव से सम्बंधित जानकारी

हमारे देश में चने का उत्पादन सबसे अधिक महाराष्ट्र, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, राजस्थान और आंध्र प्रदेश में होता है | इस बार मौसम अनुकूल होनें के कारण चना उत्पादक राज्यों में चने की फसल काफी अच्छी हुई है | सभी किसान भाई इसे अच्छे भावों में बेचने के लिए समर्थन मूल्यों की और रुख कर रहे है | यदि हम चने के भावों की बात करे, तो वर्तमान में चना न्यूनतम समर्थन मूल्य अर्थात एमएसपी (MSP) के लगभग आस-पास के भाव में ही चल रहा है |

जबकि पिछले कुछ दिनों में इसके दामों में उछाल देखनें को मिला था | जिसके कारण किसानों और व्यापारियों मे चने के भावों को लेकर तेजी की काफी संभावना दिखाई दे रही है, जिसके चलते मंडियों में रोजाना उतार-चड़ाव देखने को मिल रहा है | ऐसे में सभी के मन में रोजाना चनें का भाव जाननें की उत्सुकता बनी रहती है | यहाँ पर आज हम आपको चने का भाव आज का 2022 – Today Chana Rate अर्थात मंडी में चना क्या भाव है ? इसके बारें में बताया जा रहा है |

यूपी गेहूं का रेट

चने का भाव आज का 2022 – Today Chana Rate

इस वर्ष अर्थात 2022 के लिए सरकार द्वारा चने का एमएसपी अर्थात न्यूनतम समर्थन मूल्य 5320 रुपये प्रति क्विंटल तय किया है | इसका सीधा अर्थ यह है, कि जो भी किसान भाई अपने चने की फसल को सरकारी खरीदी पर बेचना चाहते है, वह 5230 रुपये प्रति क्विंटल के हिसाब से बेच सकते हैं | यदि हम चनें के भावों में तेजी अर्थात दामों में बढ़ोत्तरी की बात करे, तो पिछले वर्ष जब चने की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू हुई तो इसके भाव 4800 रुपये प्रति क्विंटल के आस-पास से शुरू हुई, जो कि एमएसपी से थोडा कम थी | लेकिन इसके भावों में उछाल आया तो यह 6695 रुपये तक गया था |        

फिलहाल चना मंडियों में भाव पहले की तुलना मे कमजोर होने सेमंदी दिखाई दे रही है | इस वर्ष में मार्च के अंतिम दिनों के भावों की बात करें, तो यह 4800 से लेकर 5600 के आस-पास देखने को मिल रहा है|

चने का नया भाव 02 दिसम्बर : चने के भाव में एमएसपी (MSP) से अधिक रेट चल रहा है, और इसमें लगातार बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है| (वर्तमान में चने का भाव 4685 रु से 5990 रु तक है)

मंडी में 02 दिसम्बर को चना क्या भाव है (Aaj Chane Ka Mandi Bhav Kya Hai)

चना मंडियों के नामदेसी चना के भाव प्रति क्विंटल रुपये
इंदौर चना मंडी भाव4690 रुपये प्रति क्विंटल
झांसी मंडी चना भाव4900 रुपये प्रति क्विंटल
बरेली मंडी देसी चना भाव5760 रुपये प्रति क्विंटल
यूपी-साहरनपुर मंडी भाव5650 रुपये प्रति क्विंटल
हरदा मंडी चना भाव4730 रुपये प्रति क्विंटल
नागपूर-MH मंडी – नया चना4580 रुपये प्रति क्विंटल
नीमच देसी चना रेट4820 रुपये प्रति क्विंटल
उज्जैन4730 रुपये प्रति क्विंटल
करंजा / महाराष्ट्र मंडी चना भाव4550 रुपये प्रति क्विंटल
मुंबई मंडी भाव5510 रुपये प्रति क्विंटल
बीकानेर मंडी चना भाव4570 रुपये प्रति क्विंटल
जयपुर मंडी चना4735-4800 रुपये प्रति क्विंटल
श्रीगंगानागर4550 रुपये प्रति क्विंटल
कोटा मंडी चना भाव5000 रुपये प्रति क्विंटल
विदिशा चना भाव4750 रुपये प्रति क्विंटल
देवास मौसमी चना4730 रुपये प्रति क्विंटल
चना देसी रतलाम mp4700 रुपये प्रति क्विंटल
मंडी भाव राजस्थान4260 से 4825रुपये प्रति क्विंटल
चना मंडी भाव मध्य प्रदेश4262 से 9015रुपये प्रति क्विंटल
चना मंडी भाव उतर प्रदेश4620 स 6035रुपये प्रति क्विंटल

भारत में चनें का रकबा (Chana acreage in India)

कृषि मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, देश में चने का औसत रकबा 87.81 लाख हेक्टेयर रहता है, जबकि इस बार यह रकबा बढ़कर 108.29 हेक्टेयर हो गया है, जोकि पिछले वर्ष की अपेक्षा 99.04 लाख हेक्टेयर से 8.28 फीसदी अधिक है।

यदि हम मध्य प्रदेश की बात करे तो यहाँ इस वर्ष पिछले वर्ष के 33.52 लाख हेक्टेयर के मुकाबले चने का रकबा 36.9 लाख हेक्टेयर है | जबकि कर्नाटक के किसानों नें 13.8 लाख हेक्टेयर में चने की खेती की है | यदि हम यहाँ पिछले वर्ष के आकडे को देखे तो यह आंकड़ा 10.81 लाख हेक्टेयर था। महाराष्ट्र में चने का रकबा इस वर्ष पिछले वर्ष के 18.68 लाख हेक्टेयर से बढ़कर 19.77 लाख हेक्टेयर हो गया है।

आज का सरसों का भाव

सबसे अधिक चने का उत्पादन करनें वाले राज्य (Highest Production of GramStates in India)

चनें की उत्पादकता के मामले में भारत सबसे अधिक उत्पादन करने वाला देश है | भारत में सबसे अधिक चनें का उत्पादन करनें वाले राज्य इस प्रकार है-

मध्य प्रदेश39%
महाराष्ट्र14%
राजस्थान14%
आंध्र प्रदेश10%
उत्तर प्रदेश7%
कर्नाटक4%

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि हमें प्रतिवर्ष लगभग 85 से 90 लाख टन चने से घरेलू आवश्यकताओं की पूति की जाती है | हालाँकि इस वर्ष (फसल वर्ष-2022) चने के उत्पादन मेकाफी अच्छी पैदावार बताई जा रही हैं | सरकारी आंकड़ों के अनुसार, इस वर्ष सर्दी के समय बारिश होने से चनें की फसल काफी अच्छी बैठेगी | जिससे हमारी घरेलू और अन्य आवश्यकताओं की पूर्ती होनें के साथ ही चनें के निर्यात की संभावनाएं काफी अधिक है |   

चने की फसल बेचने की लिमिट में हुई वृद्धि (Gram Crop Increased Limit For Sale)

वर्तमान समय में देश के लगभग सभी राज्यों में गेहूं, चना सहित अन्य रबी की फसलों के एमएसपी अर्थात न्यूनतम समर्थन मूल्य पर फसलों को खरीदनें का कार्य किया जा रहा है |  एमएसपी पर फसलों को खरीदनें का कार्य गवर्नमेंट की अलग-अलग एजेंसियों द्वारा किया जाता है | देश के अलग-अलग राज्यों में फसलों की उपज की खरीद उस राज्य के द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार किया जाता है |

सेन्ट्रल गवर्नमेंट की से राज्यों को प्रमुख फसलों की खरीद के लिए लक्ष्य निर्धारित किया जाता है | उसी निर्धारित लक्ष्य के अनुसार राज्यों द्वारा खरीद की जाती है। हालाँकि यह खरीद लक्ष्य से अधिक भी हो सकता है | न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में खरीद के निर्धारित नियमों के मुताबिक यह निर्धारित किया जाता है, कि एक किसान एक दिन में अपनी कितने कुंतल फसल का विक्रय कर सकता है| 

आपकी जानकारी के लिए बता दें, कि मध्य प्रदेश में चनें की फसल बेचनें की लिमिट बढ़ा दी गयी है |  इस सम्बन्ध में कृषि मंत्री ने कहा, कि एक किसान अपनी ट्राली में 35 कुंतल चना लेकर केंद्र पर आता था परन्तु सरकारी खरीद सीमा 25 कुंतल होनें के कारण किसानों को 10 कुंतल चना वापस ले जाना पड़ता था | कृषि मंत्री से दिल्ली में चर्चा में किए गए अनुरोध पर किसानों के हित में निर्णय लेते हुए सीमा को 25 क्विंटल से बढ़ाकर 40 क्विंटल करने के निर्देश दे दिए गए हैं। अब एक किसान एक दिन में 40 क्विंटल तक चना न्यूनतम समर्थन मूल्य पर बेच सकेगा।

आज का सोयाबीन का भाव