पंचायत सहायक कौन होता है | भर्ती | वेतन | योग्यता | आयु सीमा | कार्य


पंचायत सहायक (Panchayat Assistant) से सम्बंधित जानकारी

भारत देश में लोकतंत्र की पहली सीढ़ी ग्राम पंचायत कहलाती है | इस ग्राम पंचायत का गठन प्रत्यक्ष रूप से मतदान करके किया जाता है | इन्ही ग्राम पंचायतो का मुखिया ग्राम प्रधान या सरपंच कहलाता है | किन्तु ग्राम पंचायतो के संचालन के लिए वार्ड पंच, ग्राम प्रधान और सरपंच के अलावा सरकारी प्रतिनिधि को भी नियुक्त किया जाता है | जो ग्राम प्रधान को कार्य करने में मदद करते है | इन्हे पंचायत सहायक या पंचायत सचिव कहा जाता है | इन पंचायत सहायको की नियुक्ति मतदान के माध्यम से नहीं बल्कि लिखित परीक्षा और मेरिट के आधार पर की जाती है |

ग्रामीण क्षेत्रों में पंचायत सहायक का पद काफी महत्वपूर्ण होता है | पंचायत सहायक ग्रामीण समस्याओ और नई योजना के लिए पात्र लोगो की जानकारी को लिखती रूप में ग्राम पंचायत तक पहुंचाने का कार्य करता है | यह प्रधान का कार्यवाहक होता है, जो प्रधान के आदेश पर ही कार्य करता है | ग्राम सभा से किसी भी व्यक्ति को पंचायत सहायक के लिए चुना जा सकता है | यदि आप भी ग्राम प्रधान के साथ पंचायत सहायक के रूप में कार्य करना चाहते है, तो यहाँ पर आपको पंचायत सहायक कौन होता है, तथा पंचायत सहायक की भर्ती, वेतन, योग्यता और आयु सीमा कार्य के बारे में जानकारी दे रहे है |

ग्राम प्रधान की सैलरी कितनी होती है ?

पंचायत सहायक कौन होता है (Panchayat Assistant)

पंचायत सहायक ग्राम प्रधान का एक कार्यवाहक होता है | यह एक सरकारी कर्मचारी होता है, जिसे ग्राम पंचायत के कार्यो में सहायक के रूप में नियुक्त किया जाता है | राज्य सरकार द्वारा पंचायत सहायक की नियुक्ति की जाती है | किन्तु वर्तमान समय में राज्य सरकार सहायक पंचायतो की भर्ती दो तरह से कर रही है | इसमें पहला स्थाई और दूसरा अस्थाई नियुक्ति प्रक्रिया है:-

  • अस्थायी नियुक्ति (Temporary Appointment) :- इस तरह की भर्ती में कर्मचारियों को कुछ समय के लिए अनौपचारिक रूप से रखा जाता है | इसमें कर्मचारियों को सिर्फ 11 महीने के लिए नियुक्त किया जाता है, जिसे समय- समय पर बढ़ा भी सकते है|
  • स्थायी नियुक्ति (Permanent Appointment) :- इस तरह की नियुक्ति में कर्मचारियो की भर्ती चयन आयोग द्वारा की जाती है | इन्हे स्थाई तौर पर नियुक्त किया जाता है, साथ ही समय-समय पर इनका ट्रांसफर कर दूसरी ग्राम पंचायतो में भेज दिया जाता है | इन्हे सरकार द्वारा प्रतिमाह वेतन दिया जाता है, तथा कुछ राज्यों में इन्हे ग्राम पंचायत अधिकारी भी कहते है |

पंचायत सहायक की भर्ती (Panchayat Assistant Recruitment)

पंचायत सहायक की भर्ती दो तरह से की जाती है | इसमें स्थाई कर्मचारियों की नियुक्ति के लिए लिखित परीक्षा कराई जाती है, इस परीक्षा का आयोजन राज्य भर्ती आयोग द्वारा किया जाता है| लिखित परीक्षा में सफल होने पर इन्हे सीधे तौर पर ग्राम सहायक (Village Assistant) के रूप में नियुक्त कर दिया जाता है |

लेकिन पंचायत सहायक की परीक्षा में आप तभी दे सकते है, जब आपने 12वी की परीक्षा उत्तीर्ण हो | इसके अलावा अगर पंचायत सहायक को अस्थाई तौर पर नियुक्त करना होता है, और मेरिट प्रक्रिया के आधार पर भर्ती की जा रही होती है, तो इसमें 10वी (High School) और 12वी (Intermediate) की परीक्षा में आए अंको के आधार पर उम्मीदवार का चयन किया जाता है, या फिर गांव के ही योग्य अभ्यर्थी को नियुक्त कर देते है |

पंचायत सहायक पद हेतु जरूरी डाक्यूमेंट्स (Panchayat Assistant Post Required Documents)

  • आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • जाति प्रमाण पत्र  (Cast Certificate)
  • निवास प्रमाण पत्र (Domicile Certificate)
  • हाईस्कूल मार्कशीट |
  • इन्टरमीडिएट मार्कशीट |

पंचायत सहायक बनने के लिए योग्यता (Panchayat Assistant Eligibility)

पंचायत सहायक पद पर कार्य करने के लिए आवेदक की योग्यता को भी निर्धारित किया गया है | इसमें इंटरमीडिएट पास अभ्यर्थी को ही सहायक पद के लिए पात्र माना गया है, साथ ही उम्मीदवार का उसी गांव का होना भी जरूरी है |

पंचायत सहायक पद के लिए आयु सीमा (Panchayat Assistant Post Age Limit)

पंचायत सहायक पद के लिए कुछ आयु सीमा को भी राज्य सरकार द्वारा निर्धारित किया गया है | इसमें सामान्य वर्ग में आने वाले व्यक्तियों के लिए 18 से 40 वर्ष की आयु को निर्धारित किया गया है, तथा आरक्षित वर्ग अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति/ अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए 5 वर्ष की अतिरिक्त छूट प्रदान की गयी है |

ग्राम पंचायत की वोटर लिस्ट कैसे देखें 

पंचायत सहायक के कार्य (Panchayat Assistant Work)

पंचायत सहायक को ग्राम विकास हेतु कई कार्यो की जिम्मेदारी दी गई है, तथा इस पद पर कार्य करने वाले कर्मचारी के लिए और भी कार्य बढ़ाए जा रहे है, जो इस प्रकार है :-

  • ग्राम पंचायत के कार्यो के विवरण को व्यवस्थित रखना |
  • ग्राम प्रधान द्वारा प्रस्तावित कार्यो को ब्लॉक तक पहुंचाना |
  • ग्रामसभा में हुई मीटिंग के रिकॉर्ड को रखना |
  • गांव के लोगो की समस्याओ को सरकार के सामने प्रदर्शित करना |
  • मनरेगा के तहत कार्य कर रहे लोगो का लेखा-जोखा व्यवस्थित करना |
  • सरकार द्वारा जारी की गयी योजनाओ के लिए पात्र व्यक्तियों की जानकारी को सरकार तक पहुँचाना |
  • गांव में हो रहे विकास कार्यो की निगरानी करना तथा उसे सही तरीके से पूर्ण करवाना |
  • गांव में किसी व्यक्ति के साथ दुर्घटना घटित हो जाने पर उसे मुआवजा दिलवाना |
  • पंचायत भवन में पंचायत सहायक को कंप्यूटर आपरेटर का भी कार्य करना होता है |
  • सरकारी योजनाओ के लिए ग्रामीणों का फार्म भरने में सहायता करना |

पंचायत सहायक का वेतन (Panchayat Assistant Salary)

यदि आपकी नियुक्ति पंचायत अधिकारी के रूप में हुई है, तो आपके वेतन को राज्य सरकार द्वारा निर्धारित किया जाता है | इसके अलावा अगर आप पंचायत सहायक के रूप में नियुक्त हुए है, तो आपका वेतन ग्राम पंचायत द्वारा निर्धारित किया जाएगा | उत्तर प्रदेश राज्य में पंचायत सहायक को प्रतिमाह वेतन के रूप में 6 हज़ार रूपए दिए जाते है | वही पंचायत अधिकारी का वेतन 5200 से 22,000 रूपए होता है, साथ ही 1900 रूपए पे-ग्रेड भी मिलता है |

ग्राम पंचायत सचिव कैसे बने