कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021 क्या है | Krishi Input Anudan Yojana | बिहार कृषि योजना Online Registration

Krishi Input Anudan Yojana 2021

किसानों की आय को बढ़ानें के लिए सरकार द्वारा निरंतर प्रयास जारी है | यहाँ तक कि सरकार किसानों को कृषि कार्यों में आने वाली समस्याओं से निजात दिलानें के लिए समय-समय पर अनेक प्रकार की योजनायें लांच करती रहती है | हम सभी जानते है, कि किसानों की आय का मुख्य आधार कृषि है, और जब किसी प्राकृतिक आपदा जैसे- बाढ़, बेमौसम बारिस होनें के कारण उनकी उपज प्रभावित हो जाती है |

ऐसे में किसानों के सामनें अपनें परिवार का भरण-पोषण करनें की समस्या उत्पन्न हो जाती है | यहाँ तक कि बहुत से किसान भाई अपनें इस नुकसान की सहन नहीं कर पाते है और आत्महत्या करनें के लिए विवश हो जाते है | किसानों की इस प्रकार की समस्या से निजात दिलानें के लिए बिहार सरकार द्वारा कृषि इनपुट अनुदान योजना की शुरुआत की गयी है | कृषि इनपुट अनुदान योजना 2021 क्या है, Krishi Input Anudan Yojana, बिहार कृषि योजना Online Registration, इसके बारे में विस्तृत जानकारी दी गई है |

बीज ग्राम योजना 2021 क्या है

कृषि इनपुट अनुदान योजना क्या है (Krishi Input Anudan Yojana)

कृषि इनपुट अनुदान योजना की शुरुआत बिहार सरकार द्वारा की गयी है | इस स्कीम के अंतर्गत राज्य के ऐसे किसान जिनकी फसलें बारिश और ओलावृष्टि के कारण प्रभावित हुई है अर्थात उनकी फसलों को भारी मात्रा में नुकसान हुआ है| ऐसे किसान भाइयों को खराब हुई उनकी फसलों के लिए अनुदान सरकार की तरफ से दिया जाएगा |

राज्य के ऐसे किसान जिनकी फसलें ओले, बाढ़ या आंधी-तूफ़ान के कारण प्रभावित होनें पर सरकार की तरफ से उन्हें 6 हजार 800 रुपये की धनराशि प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्रदान की जाएगी | ऐसे किसान जिनकी भूमि सिंचाई क्षेत्रों में आती है, उन्हें 13 हजार 500 रुपये प्रति हेक्टेयर तथा जिन किसानों की भूमि बलुई क्षेत्रों में आती है, और सिल्ट का जमाव तीन इंच (3 Inch) से अधिक होता है| ऐसे भूमिधर किसानों को 12 हजार 200 रुपये प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान राशि सरकार की तरफ से दी जाएगी | 

चारा और चारा विकास योजना

कृषि इनपुट अनुदान योजना का उद्देश्य (Purpose Of Krishi Input Anudan Yojana)

सरकार द्वारा कृषि इनपुट अनुदान योजना शुरू करनें का मुख्य उद्देश्य किसानों को आर्थिक रूप से सहायता करना है | हमारे देश में ऐसे बहुत से किसान है, जिनकी आय का मुख्य स्त्रोत कृषि ही है अर्थात उनका जीवन यापन कृषि से जुड़ा हुआ है | कई बार किसान इधर-उधर या ब्याज पर धन लेकर कृषि कार्य करते है और उनकी फसल प्राकृतिक आपदाओं के कारण नष्ट हो जाती है | ऐसे में किसानों के सामनें एक बड़ी समस्या उत्पन्न हो जाती है और वह मजबूरन आत्महत्या करनें के लिए विवश हो जाते है | सरकार नें ऐसे किसानों की सहायता करनें तथा उन्हें आत्महत्या करनें के बचानें के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की गयी है |              

राष्ट्रीय सतत कृषि मिशन योजना क्या है 

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना से लाभ (Benefit Of Krishi Input Anudan Yojana)

  • इस स्कीम के माध्यम से आत्महत्या करनें वाले किसानों की दर में कमीं आयेगी |
  • योजना के तहत सरकार द्वारा निर्धारित मापदंड के अनुसार प्रति हेक्टेयर की दर से अनुदान राशि सीधे उनके बैंक खाते में प्रदान की जाएगी |
  • इस स्कीम के अंतर्गत लाभार्थी किसान को अधिकतम 2 हेक्टेयर भूमि के लिए अनुदान राशि प्रदान की जाएगी|
  • योजना के अंतर्गत प्राकृतिक आपदा से प्रभावित किसान भाइयों को कम से कम 1 हजार रुपये की अनुदान राशि सरकार की तरफ से दी जाएगी |
  • किसानों की ऐसी भूमि जहा बालू या सिल्ट का जमाव तीन इंच से अधिक होता है, उन्हें 12 हजार 200 रुपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान राशि दी जाएगी |      
  • इस स्कीम का लाभ प्राप्त करनें के लिए किसानों को सबसे पहले आपको यह सुनिश्चित करना होगा, कि आपका जिला सूखाग्रस्त घोषित हुआ है या नहीं | यह जानकरी आप अपनें ब्लाक से कर सकते है |

डेयरी उद्यमिता विकास योजना क्या है

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना हेतु पात्रता (Krishi Input Anudan Yojana Eligibility)

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करनें के लिए आवेदक को बिहार राज्य का स्थायी निवासी होना आवश्यक है।
  • कृषक के पास कृषि योग्य भूमि होना आवश्यक है, भागीदारी में खेती करने वाले किसान अर्थात बटाईदार अथवा स्वयं की जमीन वाले किसानों को भूमि के दस्तावेज के साथ स्व घोषणा पत्र संलग्न करना आवश्यक है।
  • जिस भूमि पर कृषि कार्य किया जा रहा है, कृषक के पास उस भूमि से सम्बंधित दस्तावेज़ होना आवश्यक है |

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना हेतु दस्तावेज (Krishi Input Anudan Yojana Documents)

  • पहचान पत्र (Identity Card)      
  • आधार कार्ड (Aadhar Card)     
  • भूमि के दस्तावेज (Land Papers)
  • बैंक खाता नंबर व IFSC कोड (Bank Account Number with IFSC code)    
  • रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (Registered Mobile Number)      
  • पासपोर्ट साइज फोटो (Passport Size Photo)
  • मूलनिवास प्रमाण पत्र (Address Proof)
  • घोषणा पत्र (Manifesto)

किसान सूर्योदय योजना क्या है

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (Krishi Input Anudan Yojana Online Apply Process)

  • योजना के अंतर्गत आवेदन करनें के लिए आपको सबसे पहले प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार की ऑफिसियल वेबसाइट https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर जाना होगा |

राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना क्या है

  • अब आपके सामनें एक नया पेज खुलेगा, जिसमें आपको किसान पंजीकरण संख्या (Registration Number) दर्ज कर Search के बटन पर क्लिक करे |
  • अब आपके सामने एक आवेदन फॉर्म ओपन होगा, जिसमें पूछी गयी जानकरी जैसे- नाम, आयु, निवास, पंचायत किसान श्रेणी आदि जानकारी दर्ज करे |
  • फार्म के दूसरे भाग में किसान को अपनी भूमि से सम्बंधित जानकारी जैसे- भूमि का क्षेत्रफल, किसान का प्रकार, फसल के बर्बाद होने का कारण, भूमि से सम्बंधित सभी दस्तावेज की जानकारी दर्ज कर Send OTP पर क्लिक करें |
  • OTP दर्ज करनें के पश्चात Submit पर क्लिक करे, इस प्रकार आपकी ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी | 

किसान सलाहकार क्या है

ऑनलाइन आवेदन की स्थिति कैसे पता करे (How To Check Application Status)

  • आवेदन की स्थिति की जानकारी के लिए आपको ऑफिसियल वेबसाइट https://dbtagriculture.bihar.gov.in/ पर जाना होगा ।
  • होम पेज आवेदन की स्थिति/ आवेदन प्रिंट के विकल्प पर जाकर इनपुट सब्सिडी (2019-20) स्थिति पर क्लिक करें।
  • अब एक नया पेज ओपन होगा, यहाँ आपको Check Application Status for Drought में Application Number दर्ज कर सर्च ऑप्शन पर क्लिक करे |
  • अब आपके सामनें आवेदन की स्थिति शो हो जाएगी | इस प्रकार आप ऑनलाइन के स्टेटस की जानकारी प्राप्त कर सकते है |   

कोल्ड स्टोरेज योजना 2021