मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन | Gujarat Kisan Sahay Yojana पंजीकरण स्टेटस कैसे चेक करे

Mukhyamantri Kisan Sahay Yojana 2021

गुजरात राज्य के मुख्यमंत्री विजय रुपानी द्वारा राज्य के किसानो को राहत पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का आरम्भ किया गया है | इस योजना का आरम्भ 10 अगस्त 2020 को मुख्यमंत्री विजय रुपाणी द्वारा किया गया | इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार द्वारा किसानो को प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई की जाएगी | इस योजना से गुजरात राज्य में प्राकृतिक आपदाओं के कारण कृषि उपज में होने वाली 33% से 60% तक के नुकसान को राज्य सरकार द्वारा वहन किया जायेगा | इसमें एक किसान को अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टयेर के हिसाब से 20,000 रूपए के मुआवजा दिया जायेगा |

यदि किसान की फसल की हानि 60% से अधिक हुई है, तो उसे अधिकतम चार हेक्टेयर के लिए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से 25,000 रूपए का मुआवजा प्रदान किया जायेगा | यदि आप भी गुजरात राज्य में रहते है, और प्राकृतिक आपदाओं से आपकी फसल को हानि हुई है, तो आप भी इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते है | यदि आप योजना से सम्बंधित जानकारी प्राप्त करना चाहते है,तो इस पोस्ट में आपको मुख्‍यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 ऑनलाइन आवेदन, Gujarat Kisan Sahay Yojana पंजीकरण स्टेटस कैसे चेक करे इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी दी जा रही है |

यूपी किसान कर्ज माफ़ी योजना क्या है

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी द्वारा इस योजना को उन किसानो के लिए आरम्भ किया गया है, जिनकी फसल प्राकृतिक आपदाओं के चलते नष्ट हो गई है | यह योजना खासतौर पर खरीफ के मौसम में बारिश के अनियमितता के कारण किसानो को होने वाले नुकसान को देखते हुए आरम्भ की गई है |

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के अंतर्गत किसानो को किसी भी तरह की प्रीमियम का भुगतान नहीं करना होगा | राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष के अंतर्गत वह किसान जिनकी फसल प्राकृतिक आपदा के कारण नष्ट हो गई है, उन्हें इस मुआवजे के लिए पात्र माना जायेगा | इस योजना में राज्य के तक़रीबन 53 लाख किसानो को शामिल किया गया है |

मेरा पानी मेरी विरासत योजना 2021

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का मुख्य उद्देश्य (Objective Of The Chief Minister Kisan Sahay Yojana)

गुजरात के मुख्यमंत्री द्वारा आरम्भ की गई इस योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के उन किसानो को राहत पहुँचाना है, जिन्हें प्राकृतिक आपदा के चलते अपनी फसल का नुकसान उठाना पड़ता है, खरीफ के मौसम में बारिश की अनियमितता के चलते अक्सर ऐसी समस्याए सामने आती है | इस सभी बातो को ध्यान में रखे हुए ही राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री सहाय योजना का आरम्भ किया है, इस योजना के तहत प्राकृतिक आपदा जैसे बे मौसम बारिश, बाढ़ आदि के कारण फसल के नुकसान हो जाने पर उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी | इससे राज्य के किसानो की स्थिति में सुधार होगा तथा आर्थिक रूप से उन्हें मजबूती भी प्रदान होगी |

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 के मुख्य तथ्य
योजना का नाममुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021
योजना का आरम्भमुख्यमंत्री विजय रुपानी जी के द्वारा
आरम्भ तिथि10 अगस्त 2020
योजना का उद्देश्यप्राकृतिक आपदा से पीड़ित किसानो को मुआवजा प्रदान करना
लाभार्थीगुजरात राज्य के किसान

Meri Fasal Mera Byora Portal

राज्य के किसान को किन परिस्थितियों में सहायता प्रदान होगी

  • यदि किसी क्षेत्र में किसी कारणवश फसल सूख जाती है जिस वजह से फसल को काफी नुकसान होता है, तो इन परिस्थितियों में किसान को योजना के अंतर्गत सहायता प्रदान होगी | यदि मानसून के मौसम में बारिश कम हुई हो या फिर न हुई हो तथा उस क्षेत्र में 10 इंच से कम बारिश हुई हो तब इन परिस्थितियों में उस क्षेत्र को सूखा माना जाता है |
  • किसान को उन परिस्थितियों में भी सहायता प्रदान की जाएगी जब किसी क्षेत्र में अधिक वर्षा होने के कारण भी फसल को नुकसान पहुँचता है | ऐसी स्थिति तब मानी जाती है जब उस जिले या क्षेत्र में 35 इंच या फिर 48 घंटे तक लगातार बारिश हुई हो |
  • यदि किसी जिले या क्षेत्र में बेमौसम बारिश के चलते भी फसल का नुकसान हुआ हो तो इस स्थिति में भी मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना के तहत सहायता प्रदान की जाएगी | बे – मौसम की स्थिति तब मानी जाएगी जब किसी क्षेत्र में 15 अक्टूबर से लेकर 15 नवंबर तक तक 50 एमएम से अधिक या 48 घंटे तक लगातार बारिश पड़ी हो |

E Uparjan Portal MP

मुख्यमंत्री सहाय योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सहायताये (Assistance Provided Under the Scheme)

  • गुजरात राज्य के किसानो को योजना का लाभ प्रदान किया जायेगा |
  • राज्य के वह किसान जिनकी फसल प्राकृतिक आपदाओं जैसे : – सूखा या अधिक बारिश या बेमौसम बारिश,बाढ़ आदि के कारण ख़राब हो गई हो उन्हें सरकार द्वारा मुआवजा प्रदान किया जायेगा |
  • राज्य सरकार द्वारा प्राकृतिक आपदा से 33 % से 60 % तक छतिग्रस्त फसल पर एक किसान को अधिकतम चार हेक्टयेर के लिए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से 20,000 रूपए का मुआवजा प्रदान किया जायेगा |
  • यदि किसी किसान की 60% से अधिक फसल छतिग्रस्त हो चुकी है तो उसे प्रति हेक्टयेर के हिसाब से 25,000 रूपए का मुआवजा प्रदान किया जायेगा |
  • योजना में खासकर खरीफ के मौसम में बारिश की अनियमितता के कारण होने वाले नुकसान भी भरपाई की जाएगी |
  • राज्य के लगभग 53 लाख किसानो को इस योजना का लाभ प्राप्त होगा |
  • मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किसानो को किसी भी तरह की प्रीमियम का भुगतान नहीं करना होगा |
  • अधिकतर जून से नवंबर के मध्य बाढ़ या बेमौसम बारिश की वजह से किसानो की खरीफ की फसल कई बार बर्बाद हो जाती है, जिसका भुगतान  सरकार द्वारा प्रति चार हेक्टेयर के हिसाब से दिया जायेगा |

पीएम किसान सम्मान निधि लिस्ट 2021

मुख़्यमंत्री किसान सहाय योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज एवं पात्रता (Required Documents and Eligibility)

  • योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है |
  • प्राकृतिक आपदाओं के कारण नष्ट हुई फसल के नुकसान के मामले में किसानो को किसान राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष के तहत अतिरिक्त मुआवजा भी प्राप्त कर सकेंगे |
  • योजना के अंतर्गत राज्य के केवल किसान भाई ही पात्र होंगे |
  • योजना के अंतर्गत राज्य भर में राजस्व रिकॉर्ड में पंजीकृत सभी 8-ए धारक किसान खाताधारक और वन विभाग अधिकार अधिनियम के अंतर्गत मान्यता प्राप्त किसानो भी योजना के लाभार्थी होंगे |
  • आधार कार्ड (Aadhar Card)
  • पहचान पत्र (Identity Card)
  • निवास प्रमाण पत्र (Residence Certificate)
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो 

Godhan Nyay Yojana 2021

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 में आवेदन कैसे करे

राज्य के वह इच्छुक लाभार्थी जो इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते है,तो उन्हें आवेदन करने के लिए अभी थोड़ा इंतजार करना होगा | क्योकि मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 में आवेदन के लिए अभी तक ऑनलाइन पोर्टल को लांच नहीं किया गया है | इसके लिए राज्य सरकार जल्द ही ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को आरम्भ कर देगी | जिसकी जानकारी को आप पोस्ट के माध्यम से प्राप्त कर सकेंगे | जिसके बाद आप ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आवेदन कर लाभ प्राप्त कर सकेंगे |

खेत तालाब योजना उत्तर प्रदेश 2021

किसान सहाय योजना 2021 की लाभार्थी सूची (Scheme Beneficiary List)

  • राज्य सरकार की राजस्व विभाग द्वारा योजना के लाभार्थियों की सूची को तैयार किया जायेगा |
  • सर्वप्रथम जिला कलेक्टर (DC – District Collector) तालुका/गांवों की सूची को तैयार किया जायेगा,जिनकी फैसले सूखे,भारी वर्षा या गैर मौसमी बारिश के चलते छतिग्रस्त हो गई हो |
  • इसकी जानकारी को 7 दिनों के भीतर राजस्व विभाग को देना होगा |
  • इसके अगले चरण में एक विशेष सर्वेक्षण की टीम 15 दिनों के भीतर फसलों के नुकसान की समीक्षा करेगी |
  • क्षति सर्वेक्षण पूर्ण होने के पश्चात जिला विकास अधिकारी द्वारा हस्ताक्षरित लाभार्थियों की सूची की घोषणा  की जाएगी |
  • यह लाभार्थी सूची दो प्रकार की होगी, जिसमे पहली सूची में 33% से 60% तक हानि तथा दूसरी सूची में 60% से अधिक की हानि को शामिल किया गया है |

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2021 

मुख्यमंत्री किसान सहाय योजना 2021 के लिए बेनिफिशियरी लिस्ट कैसे तैयार करे

  • योजना के अंतर्गत जिला कलेक्टर तालुका/गांव के उन सभी लोगो की सूची को तैयार करेगी, जिन्हे फसल के सूखने या फिर भारी वर्षा तथा मौसमी वर्षा के कारण हानि हुई है |
  • तैयार की गई इस सूची को राजस्व विभाग के साथ साझा किया जायेगा |
  • इस सूची को राजस्व विभाग में 7 दिनों के भीतर साझा कर दिया जायेगा |
  • यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद 15 दिनों के अंदर एक सर्वे टीम द्वारा नुकसान की समीक्षा की जाएगी |
  • इन सभी प्रक्रियाओं के सफलतापूर्वक पूर्ण होने के बाद डिस्ट्रिक्ट डेवलॅपमेंट ऑफिसर अपने द्वारा साइन की गई बेनेफिशरी फार्मर की सूची को जारी कर देगा |

SMAM Kisan Yojana 2021